खतरे के निशान से ऊपर यमुना, हथिनी कुंड से 28 हजार 253 क्यूसेक छोड़ा गया पानी

0
272
views

दिल्ली में बाढ़ का खतरा एक बार फिर मंडराने लगा है.  दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. पहाड़ों पर लगातार हो रही बारिश के चलते हरियाणा के यमुनागर में हथिनीकुंड बैराज का जलस्तर बढ़ गया. जिसके बाद हथिनीकुंड से पानी छोड़ना पड़ा. मंगलवार को यमुना का जलस्तर 205.24 था और यह लगातार बढ़ रहा है. हरियाणा के हथिनी कुंड से बुधवार सुबह 6 बजे 28 हजार 253 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है. जिसके चलते इसका जलस्तर और बढ़ सकता है. यमुना के आसपास अलर्ट जारी कर दिया गया है.

ऐसे में लोगों ने अपने घर खाली करने शुरू कर दिए हैं और ऊंचे स्थानों पर जाना शुरू कर दिया है. यमुना में फिर जलस्तर बढ़ने से रेलवे का निर्माणाधीन पुल भी जलमग्न हो गया है. माना जा रहा है कि शाम तक या फिर देर रात तक यमुना का जलस्तर और बढ़ेगा. वहीं हरियाणा में भी प्रशासन की ओर से अलर्ट जारी कर दिया गया.

वहीं मंगलवार दोपहर 2 बजे तक हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से करीब 11,19,430 क्यूसेक पानी छोड़ा गया. बता दें कि यमुना में चेतावनी का स्तर 204 मीटर है और खतरे के निशान का स्तर 204.83 मीटर है.

दूसरी ओर राजधानी में सितंबर महीने की बारिश ने पिछले आठ साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. दिल्ली में सोमवार सुबह तक 224.8 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. इससे पहले साल 2011 में सितंबर माह में 225.2 मिलीमीटर बारिश हुई थी बंगाल की खाड़ी में बने कम हवा के दबाव क्षेत्र के बाद से उठी मानसूनी हवा बीते चार दिनों से दिल्ली को भिगो रही हैं. सोमवार को भी दिनभर बारिश होती रही. मौसम विभाग ने अगले दो दिन बारिश की उम्मीद जताई है.