अंबाला में डोमेस्टिक एयरपोर्ट बनने की सभी अड़चनें हुई दूर, गृह मंत्री अनिल विज के प्रयास लाए रंग

0
93
views
Image Credit: Google

हरियाणा के गृह, स्वास्थ्य व निकाय मंत्री अनिल विज के कड़े प्रयासों से अब अंबाला में डोमेस्टिक एयरपोर्ट बनने को लेकर भूमि बारे सैद्धान्तिक सहमति बन गई है। डोमेस्टिक एयरपोर्ट को दो वर्ष पहले उड़ान-3 के तहत स्वीकृति मिली थी। मगर आर्मी क्षेत्र होने के साथ संवेदनशील एरिया होने से यहां स्थित एयरफोर्स व मनिस्ट्री ऑफ डिफेंस के साथ जिला प्रशासन की उच्चस्तरीय कई मीटिंगों में सार्थकता न रहने पर गृह मंत्री 23 फरवरी को रक्षा मंत्री राज नाथ सिंह से मिले।

उन्होंने यहां के कंटेनमेंट जोन व अन्य सभी मुद्दों पर चर्चा की। अंबाला में एयरफोर्स स्टेशन की पट्टी पर ही सिविल एविएशन के जहाज उड़ाने की अनुमति मिली थी। एयरफोर्स स्टेशन के साथ घरेलू विमानों की उड़ानों के लिए डिफेंस की जमीन की आवश्यकता होगी। इस मामले में उन्होंने रक्षा मंत्री से केंद्र और राज्य सरकार के अधिकारियों की टीम बनाकर मौके का मुआयना कराने की अपील की थी, ताकि इसका हल निकाला जा सके। उन्होंने यह भी बताया था कि अंबाला को एयर लाइन अलॉट हो चुकी है। अंबाला से लखनऊ और श्रीनगर तक की फ्लाइट भी मंजूर है।

अनिल विज के सार्थक प्रयासों से डोमेस्टिक एयरपोर्ट बनाने के लिए मनिस्ट्री ऑफ डिफेंस के साथ जिला प्रशासन की मीटिंगों में तेजी आई। जिला प्रशासन की तरफ से जिलाधीश अशोक शर्मा ने जिला राजस्व अधिकारी को साथ लेकर व एयरफोर्स व मनिस्ट्री ऑफ डिफेंस के प्रतिनिधि व कंटेनमेंट बोर्ड के प्रतिनिधियों में कई मीटिंगों के दौर के बाद आखिरकार सैद्धान्तिक सहमति बनने के बाद अब अंबाला में डोमेस्टिक एयरपोर्ट बनने का काम जल्दी शुरू होने की संभावनाएं है। जिला प्रशासन ने इसके लिए आसपास के गांव बरनाला व गजराना में भी सर्वे किए। अब अम्बाला में डोमेस्टिक एयरपोर्ट बनने के लिए मनिस्ट्री ऑफ डिफेंस व जिला प्रशासन में सैद्धान्तिक सहमति हो चुकी है।

गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि सिविल एविएशन मिनिस्ट्री द्वारा कुछ जरूरी अप्रूवल के बाद निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। उम्मीद है कि आगामी एक से डेढ़ वर्ष में अम्बाला के डोमेस्टिक एयरपोर्ट से श्रीनगर व लखनऊ की उड़ाने उड़ान भरने लगेंगी। इसके साथ लगती 15 एकड़ जमीन पर निर्माण कार्य होगा। जिसके टेंडर्स हो चुके हैं। जूम एयरलाइन को इसमे कॉन्ट्रेक्ट मिला है। उन्होंने कहा कि 15 एकड़ जो भूमि अम्बाला के डोमेस्टिक एयरपोर्ट के लिए तय हुई है, उसकी कीमत हरियाणा सरकार देगी। इसके लिए प्रपोजल मनिस्ट्री ऑफ एविएशन द्वारा दी जाएगी। दिल्ली के टी-3 की तरह यह भी प्री फेब्रिकेटेड बनेगा।