आंगनबाड़ी केंद्रों का किया जा रहा है कायाकल्प : डीसी

0
33
views

हमीरपुर : उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने कहा है कि जिला के आंगनबाड़ी केंद्रों की कायाकल्प करने तथा इनमें नन्हें बच्चों को बेहतरीन माहौल उपलब्ध करवाने के लिए व्यापक कदम उठाए जा रहे हैं। मंगलवार को पोषण माह के तहत सुजानपुर क्षेत्र की ग्राम पंचायत ठाणा धमडिय़ाणा के आंगनबाड़ी केंद्र चमारकड़ में आयोजित एक कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि स्वयंसेवी संस्था अनिल अग्रवाल फाउंडेशन-वेदांता के सहयोग से आंगनबाड़ी केंद्र चमारकड़ सहित जिला के 25 आंगनबाड़ी केंद्रों को नंदघर के रूप में विकसित किया गया है। इन नंदघरों में बच्चों की शालापूर्व शिक्षा के लिए बेहतरीन वातावरण एवं आधारभूत ढांचा विकसित किया गया है।

hamirpur dc

उपायुक्त ने बताया कि नंदघरों में बच्चों के ज्ञानवद्र्धन के लिए वॉल पेंटिंग, एलईडी, वाटिका और सोलर लाइट्स इत्यादि की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि इसी तरह जिला के 60 अन्य आंगनबाड़ी केंद्रों को भी नंदघर के रूप में विकसित करने का प्रस्ताव अनिल अग्रवाल फाउंडेशन को भेजा गया है। फाउंडेशन कॉरपोरेट सामाजिक दायित्व योजना के तहत इन आंगनबाड़ी केंद्रों की कायाकल्प करेगी।

इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी एचसी शर्मा ने उपायुक्त, अन्य अधिकारियों तथा सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया तथा पोषण अभियान और नंदघर में उपलब्ध करवाई जा रही विभिन्न सुविधाओं की जानकारी दी। स्थानीय किशोरियों ने कोरोना संबंधी सावधानियों और माहवारी स्वच्छता के बारे में जागरुकता कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

इस अवसर पर स्थानीय महिलाओं ने पारंपरिक व्यंजनों और स्थानीय उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई। कार्यक्रम के दौरान एसडीएम शिल्पी बेक्टा, अनिल अग्रवाल फाउंडेशन-वेदांता की पदाधिकारी राखी चौहान, प्रदेश प्रभारी डॉ. गौरव, जिला समन्वयक स्नेहा, बाल विकास परियोजना अधिकारी कल्याण चंद, स्थानीय पंचायत प्रधान वामदेव और अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।