जन्मदिन पर विशेष : दिलीप कुमार जैसे अभिनेता और राजनीति में एंट्री… जानिए अमिताभ बच्चन के जीवन से जुड़ी खास बातें

0
175
views

बॉलीवुड में अपने दमदार अभिनय से दर्शकों के दिलों में राज करने वाले महानायक अमिताभ बच्चन का आज जन्मदिन है। वह 79 वर्ष के हो गए। 11 अक्टूबर 1942 को इलाहाबाद में जन्में अमिताभ बच्चन ने अपने करियर की शुरुआत कोलकत्ता में बतौर सुपरवाइजर की, जहां उन्हें 800 रुपये मासिक वेतन मिला करता था। वहीं, साल 1968 में कोलकत्ता की नौकरी छोड़ने के बाद अमिताभ मुंबई आ गए।

दिलीप कुमार जैसे अभिनेता बनना चाहते थे अमिताभ

आपको बता दें कि बचपन से ही अमिताभ बच्चन का झुकाव अभिनय की ओर था। वह दिलीप कुमार से प्रभावित रहने के कारण उन्हीं की तरह अभिनेता बनना चाहते थे। वर्ष 1969 में अमिताभ बच्चन को पहली बार ख्वाजा अहमद अब्बास की फिल्म सात हिंदुस्तानी मे काम करने का मौका मिला।

लेकिन इस फिल्म के असफल होने के कारण वह दर्शकों के बीच कुछ खास पहचान नहीं बना पाए। इसके बाद वर्ष 1971 में अमिताभ बच्चन को राजेश खन्ना के साथ फिल्म आनंद में काम करने का मौका मिला। राजेश खन्ना जैसे सुपरस्टार के रहते हुए भी अमिताभ बच्चन दर्शकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने में सफल रहे।

Amitabh Bachchan

इस फिल्म के लिए उन्हें सहायक अभिनेता का फिल्म फेयर पुरस्कार दिया गया। वहीं, साल 1973 में प्रदर्शित निर्माता प्रकाश मेहरा की फिल्म ‘जंजीर’ अमिताभ बच्चन के सिने करियर की महत्वपूर्ण फिल्म साबित हुई।

फिल्म की सफलता के बाद बतौर अभिनेता अमिताभ बच्चन फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गए। फिल्म जंजीर की सफलता के बाद अमिताभ बच्चन की गिनती अच्छे अभिनेता के रूप मे होने लगी और वह फिल्म उद्योग में ‘एंग्री यंग मैन’ कहे जाने लगे। इसके बाद वर्ष 1973 में अमिताभ ने जया भादुड़ी से शादी कर ली।

बिग बी की इन फिल्मों ने तोड़े रिकॉर्ड

वर्ष 1975 में यश चोपड़ा के निर्देशन में बनी फिल्म ‘दीवार’ ने अमिताभ बच्चन की पिछली सभी फिल्मों के रिकॉर्ड तोड़ दिए। वहीं, शोले की सफलता के बाद तो उनके सामने सारे कलाकार फीके पड़ने लगे और अमिताभ बच्च्चन फिल्म इंडस्ट्री में सुपर स्टार के सिंहासन पर जा बैठे।

Amitabh Bachchan

जानें अमिताभ की राजनीति में कैसे हुई एंटी

साल 1984 में अपने मित्र राजीव गांधी के आग्रह पर अमिताभ ने राजनीति में प्रवेश किया और इलाहाबाद से चुनाव लड़ा और सांसद के रूप मे चुन लिए गए। अमिताभ बच्चन को अधिक दिनों तक राजनीति रास नहीं आई और तीन वर्ष तक काम करने के बाद उन्होंने सांसद के पद से इस्तीफा दे दिया। इसकी मुख्य वजह यह थी कि उनका नाम उस समय बोफोर्स घोटाले में खींचा जा रहा था।

वहीं, सासंद के पद से इस्तीफा देने के बाद अमिताभ बच्चन वापस फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय हो गए और उन्होंने फिल्मों में अभिनय करना जारी रखा लेकिन 90 के दशक के आखिर में उनकी फिल्में असफल होने लगी जिसके बाद अमिताभ बच्चन ने 1997 तक अपने आप को अभिनय से अलग रखा।

Amitabh Bachchan

साल 1997 में अमिताभ बच्चन ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में कदम रखा और एबीसीएल बैनर का निर्माण किया। इसके साथ ही अपने बैनर की निर्मित पहली फिल्म मृत्युदाता के जरिए अमिताभ बच्चन ने एक बार फिर से अभिनय करना शुरू किया।