कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम को 5 सितंबर तक ED की गिरफ्तारी से राहत मिली

0
190
views

पी चिदंबरम की याचिका पर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई. सुनवाई के दौरान प्रवर्तन निदेशालय की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने पक्ष रखा. तुषार ने कोर्ट कहा कि एजेंसी के पास सामग्री थी, आरोपों के खिलाफ और चिदंबरम से पूछताछ भी हुई. इसके बाद उन्होंने हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका भी दाखिल की. तुषार मेहता ने कहा जो तथ्य एजेंसी के पास हैं वह पर्याप्त हैं.

तुषार मेहता ने आगे कहा आरोपों के संबंध में जुटाई गई सामग्री अदालत को देने के साथ आरोपी पक्ष को भी मुहैया कराए जाएं. ED की तरफ से मेहता ने यह भी कहा कि चिदंबरम कानून से बचकर फरार भी हो गए थे. वो जांच से बच रहे थे, लेकिन अब वो ही चिदंबरम कोर्ट से राहत चाहते हैं. तुषार ने कहा कि ईडी को चिदंबरम से पूछताछ करनी है. सबूतों की तस्दीक करानी है और गवाहों से आमना सामना कराना है.

तुषार ने कहा कि विदेशों में जमा 15 भुगतान का मनी ट्रेल एजेंसी के पास है. ये जानकारी अगर वह आरोपी से साझा कर ले और आरोपी के अगर 30 ट्रेल हों तो वह पैसा ठिकाने लगाने और साक्ष्य मिटाने में जुट जाएगा. सच्चाई तभी सामने आ सकती है जब आरोपी का तथ्यों से आमना सामना कराया जाए.