बेरूत विस्‍फोट में अब तक 100 लोगों की मौत, 4000 से ज्‍यादा लोग घायल

0
270
views

लेबनान की राजधानी बेरूत में मंगलवार को हुए भीषण व‍िस्‍फोट जिसमें बंदरगाह का एक बड़ा हिस्सा और कई इमारतें क्षतिग्रस्त हो गईं। इसमें कम से कम 100 व्यक्तियों की मौत हो गई और 4,000 से अधिक लोग घायल हो गए। लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दिआब ने कहा कि जिम्मेदार लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा।

अधिकारियों ने बताया कि विस्फोट के कई घंटे बाद भी एंबुलेंस घायलों को अस्पताल पहुंचा रही हैं। वहीं सेना के हेलीकॉप्टर पोर्ट पर लगी आग को बुझाने में मदद कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि कई घायलों की स्थिति बेहद नाजुक है, ऐसे में मृतकों की संख्या काफी बढ़ सकती है।

लेबनान के राष्ट्रपति ने कहा कि ये धमाका 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट की वजह से हुआ, जो बंदरगाह पर 6 सालों से बिना किसी सुरक्षा के रखा हुआ था. नहीं, लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दिआब ने कहा कि जिम्मेदार लोगों को बख्शा नहीं जाएगा.लेबनान के सामान्य सुरक्षा के प्रमुख अब्बास इब्राहिम ने कहा कि हो सकता है कि धमाका अत्यधिक विस्फोटक सामग्री से हुआ हो, जिसे कुछ समय पहले एक जहाज से जब्त किया गया था और बंदरगाह पर रखा गया था।

कुछ लोगों का कहना है कि जब धमाका हुआ, तो ऐसा लगा मानों भूकंप आ गया हो। इस धमाके का असर काफी दूर तक पड़ा। इस विस्फोट से आग लग गई, कारें पलट गईं और खिड़कियों और दरवाजें के शीशे टूट गए, हर तरफ धुंआ ही धुंआ फैला हुआ था।

बताया जा रहा है कि वेयर हाउस के अंदर 6 साल से 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट रखा हुआ था। इसका इस्‍तेमाल खाद बनाने में किया जाना था। लेबनान के राष्‍ट्रपति माइकल आउन ने ट्विटर पर लिखा कि बिना सुरक्षा इंतजाम के 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट रखने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी। इस भीषण धमाके के बाद पूरे बेरूत शहर में बर्बादी का आलम नजर आया।

अल जदीद टीवी चैनल की रिपोर्ट के मुताबिक कजाकिस्‍तान के राजदूत भी इस धमाके में घायल हुए हैं। मेडिकल ऑफिसर्स ने लोगों से अपील की है कि वे ब्‍लड डोनेट करें। विस्‍फोट इतना भीषण था कि 1.5 किमी दूर तक उसके गुबार को देखा गया। बताया जा रहा है कि ऐसे दो धमाके यहां हुए हैं जिनमें से एक पोर्ट इलाके में और एक शहर के अंदर हुआ है।