हिमाचल में जनता को लगा बिजली का करंट, एक रुपये तक बिजली की दरें बढ़ी

0
201
views

हिमाचल प्रदेश की जनता को बिजली की महंगाई का करंट लगा है. सरकार ने प्रदेश में 30 पैसे से लेकर एक रुपये तक बिजली की दरें बढ़ा दी हैं. मंत्रिमंडल के घरेलू उपभोक्ताओं को बिजली बिलों पर दी जाने वाली सब्सिडी घटाने का फैसला लेने के बाद बुधवार को विद्युत नियामक आयोग ने नई दरें जारी कर दी हैं. एक जुलाई से नई दरों के हिसाब से बिजली बिल तय होंगे. जून के बिल पुरानी दरों पर ही दिए जाएंगे.

बता दें कि नियामक आयोग ने बिजली दरें नहीं बढ़ाई हैं. सरकार की ओर से सब्सिडी कम करने से आयोग को नई दरें तय करनी पड़ी हैं. नियामक आयोग की ओर से जारी नए टैरिफ में बिजली दरों को तीन स्लैब में बांटा गया है. खपत के अनुसार हर स्लैब की यूनिट का अलग से निर्धारण किया जाएगा.

पहले स्लैब में शून्य से 125 यूनिट को रखा गया है. इसमें पूर्व की तरह 1.55 रुपये प्रति यूनिट का बिल आएगा. दूसरे स्लैब में शून्य से 125 यूनिट की दरें तीस पैसे बढ़ी हैं. इसमें उपभोक्ताओं को 1.85 रुपये प्रति यूनिट देने होंगे. इसी स्लैब में 126 से 300 यूनिट तक 3.95 रुपये प्रति यूनिट बिल आएगा. नया स्लैब सिस्टम बनने से एक रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली महंगी हुई है.

तीसरे स्लैब में शून्य से 125 और 126 से 300 यूनिट की दरें दूसरे स्लैब वाली रहेंगी. इसमें 300 से अधिक यूनिट बढ़ने पर प्रति यूनिट पांच रुपये देने होंगे. पहले 300 यूनिट से अधिक पर 4.40 रुपये प्रति यूनिट लगते थे. इस स्लैब में 60 पैसे प्रति यूनिट बिजली को महंगा किया गया है. सरकार ने प्री पेड मीटर का प्रयोग करने वाले उपभोक्ताओं को दी जाने वाली बिजली भी एक रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से बढ़ा दी है. इन उपभोक्ताओं को अब 3.95 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली मिलेगी.