मशहूर भजन गायक नरेंद्र चंचल का निधन, 80 साल की उम्र में कहा दुनिया को अलविदा

0
914
views

‘चलो बुलावा आया है’ हो या फिर ‘ओ जंगल के राजा मेरी मैया को लेके आजा’ जैसे भजनों से लोगों के दिल में राज करने वाले भजन सम्राट नरेंद्र चंचल का 80 साल की उम्र में निधन हो गया है. नरेंद्र पिछले लंबे समय से बीमार चल रहे थे. पिछले तीन दिनों से उनका इलाज दिल्ली के अपोलो अस्पताल में चल रहा था. उन्होंने आज दोपहर करीब 12.15 बजे अंतिम सांस ली. उन्होंने कई प्रसिद्ध भजनों के साथ हिंदी फिल्मों में भी गाने गाए हैं.

नरेंद्र चंचल के निधन की खबर सामने आने के बाद बॉलीवुड और उनके फैंस शोक में हैं. नरेंद्र चंचल वह नाम, जिन्होंने माता के जगराते को अलग दिशा दी. उन्होंने न सिर्फ शास्त्रीय संगीत में अपना नाम बनाया बल्कि लोक संगीत में भी लोगों की दिल जीत लिया.

नरेंद्रे चंचल वो हैं, जिन्होंने माता के जगराते को अलग दिशा दी. उन्होंने ना सिर्फ शास्त्रीय संगीत में अपना नाम बनाया बल्कि लोक संगीत में भी उनकी कहीं बराबरी नहीं है. हालांकि नरेंद्रे चंचल का बॉलीवुड फिल्मों से गहरा नाता नहीं रहा लेकिन फिर भी उन्होंने संगीत की दुनिया में अपनी अलग और मज़बूत पहचान बनाई है. उन्होंने जागरण को एक बड़ी इंडस्ट्री बना दिया. लेकिन नरेंद्र चंचल का नाम यूं ही नहीं बना, इसके पीछे उनकी कड़ी मेहनत छिपी है.

नरेंद्र चंचल ने बचपन से ही अपनी मां कैलाशवती को मातारानी के भजन गाते हुए सुना. मां के भजनों को सुन-सुन कर उन्हें भी संगीत का चस्का लग गया. सूत्रों के मुताबिक, नरेंद्र बचपन में बहुत शैतान थे. उनका मन पढ़ने-लिखने में बिल्कुल नहीं लगता था इसीलिए स्कूल ना जाकर वो घंटों ताश खेला करते थे. खबरें तो ये ही हैं कि उनके शरारती स्वभाव और चंचलता की वजह से उनके हिंदी टीचर उन्हें ‘चंचल’ कहकर बुलाते थे. बाद में नरेंद्र ने अपने नाम के साथ हमेशा के लिए चंचल जोड़ लिया.