हरियाणा : अनिल विज से छीना गया CID विभाग, पोर्टफोलियों में हुआ बड़ा बदलाव

0
364
views

चंडीगढ़. हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के बीच CID की रिपोर्टिंग को लेकर जारी विवाद और भी गहरा गया है.

  • देर रात हरियाणा सीएम ऑफिस की तरफ से एक प्रेस रिलीज जारी करके बताया गया है कि अब CID की रिपोर्टिंग अनिल विज के पास नहीं रहेगी, बल्कि मुख्यमंत्री के पास CID विभाग रहेगा.
  • इस मामले को लेकर राज्यपाल की ओर से अधिसूचना जारी की गई है.
  • अनिल विज इससे पहले ही साफ कर चुके हैं कि अगर मुख्यमंत्री CID विभाग अपने पास रखना चाहते हैं तो इसके लिए विधानसभा से कानून में बदलाव को लेकर प्रस्ताव पारित करना होगा.
  • क्योंकि CID गृह मंत्रालय के अधीन आता है. अगर इसे गृह मंत्रालय से अलग करना है तो उसके लिए विधानसभा में पूरी एक संवैधानिक प्रक्रिया करनी होगी.
  • मुख्यमंत्री के परामर्श अनुसार, हरियाणा के राज्यपाल ने मुख्यमंत्री और दो मंत्रियों को कुछ नए विभाग आवंटित किए हैं.
  • मुख्य सचिव द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार, मुख्यमंत्री को उनके मौजूदा पोर्टफोलियो के अलावा तुरंत प्रभाव से आपराधिक जांच विभाग (CID), राजभवन मामलों और कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभागों को आवंटित किए गए हैं.

इन मंत्रियों विभाग आवंटित
इसके अलावा, परिवहन मंत्री मूल चंद शर्मा को चुनाव पोर्टफोलियो आवंटित किया गया है, जबकि कला एवं सांस्कृतिक मामलों का पोर्टफोलियो अब शिक्षा मंत्री कंवर पाल को उनके मौजूदा विभागों के अलावा आवंटित किया गया है, जो पहले परिवहन मंत्री, मूल चंद शर्मा को आवंटित किया गया था. इस प्रकार अब गृह मंत्री अनिल विज के पास आपराधिक जांच विभाग (CID) और परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा के पास कला एवं सांस्कृतिक मामलों का पोर्टफोलियो नहीं रहेगा.