हरियाणा में 900 पार हुआ लिंगानुपात, प्रदेश के 20 जिलों में लिंगानुपात 900 या इससे अधिक

0
96
views
image credit: google

हरियाणा में साल 2014 में प्रति 1,000 लड़कों पर 871 लड़कियों थी और अब ये आंकड़ा बढ़कर वर्ष 2020 में 922 पर पहुंच गया है। सीएम मनोहर लाल ने इस उत्कृष्ट उपलब्धि पर सराहना करते हुए सभी डीसी, स्वास्थ्य, पुलिस, अभियोजन महिलाओं और बाल विकास के सभी विभागों, अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी है। राज्य के 22 जिलों में से 20 जिलों में लिंगानुपात 900 या इससे अधिक है। सिरसा में लिंगानुपात 949 है।

इनमें फूड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन, सिविल सोसायटी और एनजीओ जिनकी प्रतिबद्धता और समर्पित प्रयासों ने राज्य को लिंगानुपात बढ़ाने और अन्य राज्यों के लिए एक उदाहरण स्थापित कर अच्छे परिणाम प्राप्त करने में मदद की है। भविष्य के लक्ष्यों को साझा करते हुए मनोहर लाल ने कहा कि हमने 2021 के दौरान 935+ का लिंगानुपात हासिल करने का लक्ष्य रखा है, जो कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ लड़ाई जारी रखते हुए पूरा किया जाएगा।

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ़ राकेश गुप्ता ने कहा कि राज्य सरकार का मुख्य उद्देश्य कन्या भ्रूण हत्या की घटनाओं पर रोक लगाना है। कोविड-19 महामारी ने वर्ष 2020 में एक स्पंज के रूप में काम किया। पिछले साल अगस्त में गति प्राप्त की और 2019 के दौरान 77 की तुलना में वर्ष 2020 में कुल 100 प्राथमिकी दर्ज की गई। पीएनडीटी अधिनियम के तहत दर्ज मामलों के जिलेवार विवरणों पर गुप्ता ने कहा कि जिन जिलों में दशकों तक लिंगानुपात 900 से कम था, उनमें से अधिकांश लिंगानुपात अब 920 प्लस हो गया है।