चार दिवसीय शिमला फेस्ट का आगाज, सांस्कृतिक संध्या में दिखी शास्त्रीय नृत्य की झलक

0
638
views

शिमला

शिमला में वीरवार को चार दिवसीय अंतराष्ट्रीय शिमला ग्रीष्मोत्सव (शिमला फेस्ट) का आगाज हो गया है. शिमला फेस्ट के पहले दिन राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की. पहली सांस्कृतिक संध्या में शास्त्रीय नृत्य की झलक भी देखने का मिली.  ऐतिहासिक रिज मैदान पर छात्र-छात्राओं की ओर से आयोजित कश्मीरी नृत्य और पहाड़ी नाटी की प्रस्तुतियों के साथ शिमला फेस्ट का आगाज किया गया.

फेस्ट में फ्रांस की रहने वाली ऐनी चोमटी और देवयानी ने भरत नाट्यम प्रस्तुत कर शास्त्रीय नृत्य की झलक दिखाई. भरत नाट्यम देखकर दर्शक दर्शकों का खूब मनोरंजन किया. इसके अलावा स्थानीय कालकारों और विभिन्न स्कूलों के बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए.

शिमला में पानी के संकट की भेंट चढ़े शिमला अंतरराष्ट्रीय समर फेस्टिवल की जगह जिला प्रशासन इस बार शिमला फेस्ट का आयोजन कर रहा है. वीरवार को पहली संध्या पर सांकृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. फेस्ट में प्रदेश के राज्यपाल ने फेस्ट का शुभारंभ किया. राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने शिमला फेस्ट के लिए जिला प्रशासन को बधाई दी. उन्होंने कलाकारों से सामजिक सुधार की दृष्टी से और बेटियों की सुरक्षा पर्यावरण पर चिंतन करने के लिए आग्रह भी किया.

वीरवार को साढ़े चार बजे से शिमला फेस्ट का आगाज़ तो हुआ लेकिन बारिश ने भी दस्तक दे दी है. जिसकी वजह से शिमला वासियों ने अंतराष्ट्रीय शिमला ग्रीष्मोत्सव में ज्यादा रूचि नहीं दिखाई. जिससे रिज पर लगाई गई कुर्सियां आधे से ज्यादा खाली नजर आईं. मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में प्रदेश में बारिश का अलर्ट जारी किया है ऐसे में शिमला फेस्ट मौसम की मार से एक बार फिर प्रभावित हो सकता है.