अगले महीने फिर से बैंक कर्मचारियों की हड़ताल, 5 दिन के लिए बंद रहेंगे बैंक !

0
253
views

नई दिल्ली. पिछले सप्ताह ही 31 जनवरी और 1 फरवरी को लगातार दो दिन बैंक हड़ताल (Bank Strike) करने के बाद सरकारी बैंकों के कर्मचारी अब एक बार फिर बैंक हड़ताल कर सकते हैं. अगर सरकारी बैंकों के कर्मचारी ये हड़ताल करने में सफल रहते हैं तो मार्च के दूसरे सप्ताह में ATM और बैंकिंग सेवाएं (Banking Services) लगातार 5 दिनों के लिए प्रभावित हो सकता है. लिहाजा आम आदमी को कैश की कमी से लेकर बैंकिंग सेवाओं को लेकर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

कब हो सकती है हड़ताल

  • बैंक एम्पलॉई फेडरेशन ऑफ इंडिया (BEFI) और ऑल इंडिया बैंक एम्पलॉई एसोसिएशन (AIBEA) के मुताबिक, 11 मार्च से 13 मार्च के बीच लगातार 3 दिनों के लिए बैंक हड़ताल हो सकता है.
  • दरअसल, बैं​क कर्मचारियों के वेतन बढ़ाने की मांग को लेकर इंडिया बैंक एसोसिएशन (IBA) के साथ बीतचीत सफल नहीं रही है.
  • लगातार 5 दिन प्रभावित रह सकती है बैंकिंग सेवाएं चूंकि, यह हड़ताल ​महीने के दूसरे शनिवार से ठीक पहले आयोजित किया जाना है, ऐसे में रविवार को मिलाकर लगातार 5 दिनों के लिए बैंकिंग सेवाएं बाधित रह सकती हैं.
  • बता दें कि हर महीने के दूसरे ​शनिवार को बैंकों का अवकाश रहता है. हालांकि, इस हड़ताल से ICICI बैंक और HDFC बैंक जैसे प्राइवेट बैंकों (Private Banks) के कामकाज पर कोई असर नहीं पड़ने की संभावना है.
  • सरकारी बैंक कर्मचारियों की मांग है कि हर 5 साल बाद उनके वेतन को रिवाइज किया.
  • यह स​हमति यूनियन लीडर्स और बैंक प्रबंधन से कई बैठकों के बाद बनी है.
  • बैंक कर्मचारियों की सैलरी को अंतिम बार 2012 में रिवाइज किया गया था. साल 2017 से अब तक इसे रिवाइज नहीं किया गया है.
  •  

    बैंक यूनियनों हर दूसरे शनिवार की छुट्टी के भी विरोध में है.

  • हालांकि, इंडियन बैंक एसोसिएशन ने 5 दिवसीय कार्य सप्ताह के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है. उनका कहना है कि भारत में पहले से ही पब्लिक छुट्टीयां अधिक है.
  • ऐसे में हर शनिवार और ​रविवार को बैंक की छुट्टी से आम लोगों को परेशानी हो सकती है.

1 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल की धमी

अगर सरकारी बैंकों में यह हड़ताल होता है तो इस साल तीसरा मौका होगा जब बैंकिंग सेवाएं प्रभावित होंगी. इसके पहले 8 जनवरी को सरकार की नीतियों को लेकर यूनियनों ने भारत बंद का आह्वाहन किया था. बैंकों यूनियान ने यह भी ऐलान किया है कि अगर सरकार उनकी मांग नहीं मानती है तो 1 अप्रैल से वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे.