तालिबान ने बनाई सुसाइड बॉम्बर बटालियन,अफगानिस्‍तान से लगती ताजिकिस्‍तान और चीन सीमा पर होंगे तैनात

0
327
views
taliban

तालिबान के आतंकियों ने आत्‍मघाती बम हमलावरों की खतरनाक बटालियन बनाई है जिसे अफगानिस्‍तान से लगती ताजिकिस्‍तान और चीन की सीमा पर तैनात किया जाएगा। इन हमलावरों को खासतौर पर बदख्‍शान प्रांत में तैनात किया जाएगा।

इस बटालियन को बनाए जाने के बारे में जानकारी बदख्‍शान प्रांत के उप गवर्नर मुल्‍ला निसार अहमद अहमदी ने दी। अहमदी ने कहा कि इस बटालियन का नाम लश्‍कर-ए-मंसूरी है और इसे देश की सीमाओं पर तैनात किया जाएगा। उसने कहा कि यही बटालियन पिछली अफगान सरकार के सुरक्षा बलों के खिलाफ आत्‍मघाती हमले करेगी।

अहमदी ने कहा, ‘अगर यह बटालियन न होती तो अमेरिका की हार मुमकिन नहीं थी।’ उसने कहा कि ये हमलावर विस्‍फोटकों से भरी जैकेट पहनेंगे और बिना किसी डर के अपने लक्ष्‍य को तबाह कर देंगे। सूत्र ने बताया कि लश्‍कर-ए-मंसूरी के अलावा बद्री 313 एक और बटालियन है जिसमें आत्‍मघाती बम हमलावरों को शामिल किया गया है।

बदरी 313 बटालियन को काबुल एयरपोर्ट की सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है और उसके पास वे सभी हथियार और उपकरण हैं जो किसी कमांडो दस्‍ते के पास होते हैं। वहीं, इन तालिबानी कमांडोज के बारे में कहा जा रहा है कि अत्‍यंत प्रशिक्षित हैं और अमेरिकी हथियारों से लैस हैं।

तालिबानी कमांडो के पास बेहद घातक अमेरिकी M-4 राइफल, बॉडी आर्मर, नाइट विजन डिवाइस, बुलेट प्रूफ जैकेट और हथियारों से लैस हम्‍वी गाड़ी है। ये कमांडो M-4 राइफल का इस्‍तेमाल कर रहे हैं जबकि अन्‍य तालिबानी लड़ाके एके-47 के साथ नजर आते हैं।

तालिबानी फाइटर जहां पगड़ी पहनकर युद्ध कर रहे हैं वहीं बदरी बटालियन के कमांडो हेल्‍मेट और काला चश्‍मा पहने दिख रहे हैं। बदरी बटालियन के कमांडो ने सलवार कमीज की जगह पर वर्दी पहन रखी है।

इन तालिबानियों ने लड़ाई में इस्‍तेमाल क‍िए जाने वाले जूते पहन रखे हैं। इन्‍हें देखकर कोई नहीं अनुमान लगा पा रहा है कि ये तालिबानी हैं या किसी देश की सेना के कमांडो। अब ये तालिबानी काबुल की सड़कों पर गश्‍त लगा रहे हैं।